स्वस्थ्य रहने का योगासन !

     योग चिकित्सा

स्वस्थ्य का आधार हलासन 

इस आसन को करते समय शरीर का आकार हल की तरह हो जाता है इसलिए इसे हलासन के नाम से जाना जाता है यह आसान शरीर को लचीला बनाता है | इस आसन के अभ्यास से पीठ व रीड की मांसपेशियों का अच्छा खासा व्यायाम हो जाता है |





यह है हलासन करने की विधि 

  • समतल जमीन पर आसन बिछाकर पीठ के बल लेट जाएं और बाजू सीधी रखते हुए हथेलियों को जमीन पर टिका लें |
  • टांगों को सीधा रखें और सांस को बाहर निकालें |
  • सास लेते हुए और टांगों को सीधा रखते हुए 90 डिग्री तक ऊपर  उठाएं |
  • सास  छोड़ते हुए कमर और कूल्हों को ऊपर उठाएं व पैरों को सिर के पीछे की तरफ ले जाएं और पैरों की उंगलियों से जमीन को छूने का प्रयास करें |
  • सांस को सामान्य लेते  हुए क्षमता अनुसार रुकें |
  • कुछ देर शवासन में लेटने के बाद ही उठें |                                                                                                                                                                                                                                                       ये है लाभ 
  • रीढ़ (स्पाइन) में लचीलापन होता है| 
  •    पेट के अंगों की क्रियाशीलता बढ़ती है और वह अच्छी तरह कार्य करते हैं   |     
  •    कब्ज, बदहजमी, गैस बनने और एसिडिटी की समस्या से राहत मिलता है   | 
  •   महिलाओं के लिए यह आसन अत्यंत गुणकारी है उन्हें गर्भाशय के विकारों और महावारी में दर्द जैसी समस्याओं से राहत मिलती है |
  •   तनाव और थकान को कम करता है |
  •  यह आसन थायराइड ग्रंथि को सक्रिय करता है जिसमें मोटापा कम होता है  |                                                                                                                                                                                                    सावधानियाँ 
  •  हाई ब्लड प्रेशर रीड की चोट से ग्रस्त या हाल ही में पेट के ऑपरेशन कराने वाले व्यक्ति इस आसन को न करें गर्भवती महिलाओं को भी इस आसन को नहीं करना चाहिए |
  • शुरुआती दौर में इस आसन को अत्यंत सावधानी से करें और पैरों को जमीन से स्पर्श करने के प्रयास में अत्यधिक जोड़ना लगाएं योगाभ्यास से पूर्व अपने डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें |                                                                                                                                                                                                    


  गर्भावस्था के दौरान एक स्वस्थ आहार एक भोजन योजना क्या  है
महिला गर्भनिरोधक टेबलेट्स के फायदे और नुकसान 

क्या pregnancy के दौरान Sex करना सुरक्षित है

                                                                                 

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.