घुटने का दर्द, उपाय होम्योपैथी


घुटने का दर्द उपाय होम्योपैथी 





नमस्कार दोस्तों घुटने में दर्द कि समस्या आज हमारे देश मे आम हो गई है अगर आप कि उम्र 45 या 50 साल से ऊपर है लेकिन आज कल ये समस्या युवाओं और कम उम्र के लोगों में भी देखने को को मिलती है और महिलाओं में तो ये समस्या आम हो गई है।


घुटने का दर्द, उपाय होम्योपैथी




तो आज मैं आप को इस के लिए एक जर्मन होम्योपैथिक मेडिसिन बताऊंगा और कुच्छ बातें बताऊंगा कि ये समस्या हमें क्यों होती है।


हमारे शरीर  में बहुत सारी हड्डियां होती और ये सारी हड्डियां एक दूसरे से जुड़ी होती है  जहाँ पर ये जुड़ी होती है उस जगह को हम जॉइंट या जोड़ बोलते है यहाँ आप  को दो हड्डियाँ देखने को मिलती है जो जो आपस में जुड़ी दिखती है और जॉइंट के ऊपर cartilage कार्टिलेज होते है और कार्टिलेज के ऊपर नीले कलर के एक एरिया होता है और जब ये कार्टिलेज टूटने लगता है और synovial fluid कम होने लगता है सूखने लगता है तो हमारी दोनों हड्डियाँ एक दूसरे से टकराने लगती है और जिसके घर्षण से हमारी हड्डियाँ में सूजन आ जाती है।


घुटने का दर्द उपाय होम्योपैथी 




और ये समस्या ज़्यादातर उम्रदराज लोगों को होती हम चल नही पाते उठने बैठने में बहुत परेशानी  होती है और बहुत अधिक दर्द होता है दोस्तों ऑस्टियो अर्थराइटिस आम तौर पर घुटनो कि बीमारी है लेकिन ये हमें हिप जॉइंट में भी हों सकती है या अन्य किसी भी जॉइंट में भी हो सकती है और इस समस्या को हम ऑस्टियो अर्थराटिस बोलते है



दोस्तों इस बीमारी से काफी सारे लोग ग्रसित होते है बिल्कुल भी चल नही पाते बहुत ज्यादा तकलीफ़ होती है और दर्द भी होता है 





और इस मेडिसिन का नाम है R73 और ये मेडिसिन बहुत इफ्फेस्टिव है ऑस्टियो अर्थराटिस के लिये अगर आप के घुटनों में दर्द है आप के कूल्हों में दर्द है चलने फिरने में बहुत परेशानी होती है तो बहुत ही अच्छे रिजल्ट मिलते है R73 के 


अब बात करते हैं कि इस में कौन-कौन होम्योपैथिक मेडिसिन मिली हुई है 

  1. सबसे पहली मेडिसिन मिली हुई है बो है Acidum sulfuricum तो जैसा की हमने पहले बताया की ऑस्टियो अर्थराटिस में कार्टिलेज टूट जाते है उन को फिर से ठीक करती है दर्द को ठीक करती है और सूजन को कम करती है।
  2. दूसरी मेडिसिन है Argentum और ये मेडिसिन हमारी हड्डियाँ घिसने लगती है और जो synovial fluid कम हो जाता है उसको ठीक करती है साथ में दर्द और सूजन को नही ठीक करती है।
  3. तीसरी मेडिसिन है Bryonia अगर उठते है बैठते दर्द होता है तो उसके लिए Bryonia बहुत इफ्फेक्टिव मेडिसिन है।
  4. चौथी मेडिसन है Arnica और ये मेडिसिन घुटनों में खून के संचार को बढ़ाती है। 
  5. पाँचवी मेडिसिन है Causticum आप में से बहुत सारे  लोंगों ने देखा होगा ऑस्टियो अर्थराटिस काफ़ी पुराना हो जाता ऑस्टियो अर्थराटिस काफी लम्बे समय से हो तो हम बिल्कुल भी नहीं चल पाते हमारा जो जॉइंट बो खराब हो जाता है तो इसके लिए Causticum मेडिसिन बहुत इफ्फेक्टिव है।

तो ये थी  मेडिसिन R73 में मिली हुई अब बात करते है कि आप को ये यूज कैसे करना है।



घुटने का दर्द उपाय होम्योपैथी





सबसे पहले लगभग 10ml पानी मतलब एक  चौथाई कप पानी ले लीजिएगा और R73 कि 10 से 15 बूँद डाल दीजियेगा और इसे आप को पीना है एक बार सुबह, एक बार शाम को, और एक बार रात को और इसे आप को लगभग 3 महीनो तक यूज करना चाहिये अगर ऑस्टियो अर्थराटिस काफी लम्बे समय से है तो इसको आप 1 साल तक यूज करना चाहिये



और अगर आप को ऑस्टियो अर्थराटिस तो आप एक मेडिसिन और जिसे यूज कर सकते है calcarea flourica 6x तो R73 के साथ calcarea flourica 6x 6 गोली दिन में तीन बार एक सुबह एक दोपहर और एक बार शाम को दोस्तों ये क्या करती है ऑस्टियो अर्थराटिस  में हड्डी बहार निकल आती है जिसके कारण  घर्षण और ज्यादा होता है और दर्द भी बड़ जाता है इसको ये ठीक करती है



तो दोस्तों ये थी जानकारी घुटने में दर्द क्यों होता है और क्या है इस की होम्योपैथिक मेडिसिन आशा करता हूँ कि ये जानकारी आप को पसंद आई होगी


यदि आप को ये जानकारी पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करें



क्या pregnancy के दौरान Sex करना सुरक्षित है 



1 टिप्पणी:

  1. बहुत ही अच्छी जानकारी मिली घुटने के दर्द के विषय में।

    उत्तर देंहटाएं

Blogger द्वारा संचालित.