मलेरिया का लक्षण, कारण और होमियोपैथिक उपचार



मलेरिया का लक्षण, कारण और होमियोपैथिक उपचार 



नमस्कार दोस्तों बरसात आ गई है और में सबसे ज्यादा फैलने बाली बीमारी है बो है मलेरिया दोस्तों मलेरिया एक ट्रॉपिकल ( उष्णकटिबंधीय) बीमारी है और हमारे देश में ये बहुत तेजी से फैलती है तो आज मै आप को बताऊंगा की आप मलेरिया को कैसे फैलने से रोक सकते हैं और कौन-कौन सी होम्योपैथिक मेडिसिन है मलेरिया के लिए...

गोरा होने की होम्योपैथिक मेडिसिन

दोस्तों मलेरिया एक फैलने वाली बीमारी है एक संक्रामक बीमारी है जो कि प्लाज्मोडियम पैरासाइट ब्लड में इन्फेक्शन के कारण होती है जो कि मच्छर के काटने से होती है



क्या है लक्षण...




  1. आमतौर पर हमें बुखार होता है 
  2. सर दर्द होता है 
  3. बदन दर्द होता है 
  4. भुखार चड़ता है और उतर जाता है और 6 से 12 घंटे बाद फिर चढ़ जाता है 
  5. साथ में कभी-कभी उल्टी व् दस्त होते है 
  6. सुरुआत में ठंड लगती है 


गुस्सा आने का कारण

मलेरिया का लक्षण, कारण और होमियोपैथिक उपचार 


क्यों होता है हमें मलेरिया का भुखार...



मलेरिया के जो पैरासाइट होते  हैं वह हमारे ब्लड में जाकर इंफेक्शन क्रियेट करते हैं  और हमारे खून  में रेड ब्लड सेल्स में  जाकर उनको तोड़ते है और बार-बार रेड ब्लड सेल्स टूटने के कारण हिमोग्लोविन की कमी हो जाती है जिससे हामरे शरीर में कमजोरी सी महसूस होने लगती है
  
मलेरिया का लक्षण, कारण और होमियोपैथिक उपचार



मलेरिया मादा anopheles mosquito (एनोफ़ेलीज़ मच्छर)  के काटने से होता है और उनके सलाइवा मतलब उनके ल़ार में प्लाज्मोडियम पैरासाइट के थ्रू हमारे शरीर के ब्लड में जाकर हामरे लीवर तक पहुँच जाते है और लीवर में बो पैरासाईंडस बनते है और उसके बाद  बो पूरी तरह से डेवलव होते है और उसके बाद हमारे ब्लड जाकर ब्लड के आरबीसी को तोड़ना चालू करते है जिसके कारण हमें मलेरिया के लक्षण महसूस होते है


क्या है मलेरिया को रोकने के उपाए...


तो मलेरिया से बचने के लिए और मलेरिया हमें ना हो इसके लिए  होम्योपैथिक मेडिसिन है Malaria officinalis और ये मेडिसिन आप को 200 ch पोटेंसी में यूज करना है Malaria officinalis आप एक टीकारण की तरह यूज कर सकते है जैसे बचपन में हमें कई बीमारियों  से बचने के लिए टीका  लगाया जाता है और ये मेडिसिन आप एडवांस में यूज कर सकते है जिससे हमें आगे मलेरिया का बुखार ना हो




अब बात करते है कि Malaria officinalis आप को यूज कैसे करना है ये बहुत ज्यादा जरूरी है तो Malaria officinalis को यूज करना बहुत आसान है आप को ये दो बूंद सुबह-सुबह पीना है और ऐसा फिर अगले दिन करना है लेकिन इसको पिने के बाद लगभग 30 मिनट्स तक तक कुच्छ नहीं खाना है और ना ही ब्रश करना है और जिस दिन आप Malaria officinalis पिए उस दिन प्याज,लहसुन न खाये बस इतना ही करना है आप Malaria से बच जायेंगे  


तो दोस्तों ये थी मेडिसिन मलेरिया से बचने के लिए अब मै आप को कुच्छ टिप्स बताऊंगा जिस आजमाने से आप 
मलेरिया से बच जायेंगे 


  1. मलेरिया के मच्छरों से बचने के लिए आप अपने घर में नींम के पत्ते जला सकते है 
  2. गाये के गोबर से बने कन्नडे जला सकते है 
  3. मच्छरों से बचने के लिए आप mosquito कोयिल न जलाये ये स्वस्थ्य के लिए बहुत हानिकारक होती है 
  4. इस के अलाबा आप मिटटी के तेल का छिडकाव कर सकते है 
  5. इस के आलावा आप mosquito लोसन का प्रयोग कर सकते है
  6. यदि आप बहार सोते है तो मच्छरदानी का प्रयोग करे 
  7. अपने घर के आसपास साफ-सफाई रखें क्योकि की मलेरिया के मच्छर गंदगी में बहुत ज्यादा फैलते है 
Sun Stroke ! गर्मियों में लू से कैसे बचें !

तो दोस्तों आशा करता हु की ये जानकरी आप को पसंद आई होगी... 


यदि आप को ये जानकारी पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करें



क्या pregnancy के दौरान Sex करना सुरक्षित है 

गर्भावस्था के दौरान एक स्वस्थ आहार एक भोजन योजना क्या  है
महिला गर्भनिरोधक टेबलेट्स के फायदे और नुकसान 





कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.