r82 homeopathic medicine in hindi

r82 homeopathic medicine in hindi



r82 homeopathic medicine in hindi नमस्कार दोस्तों हमारे शरीर कि प्रतिरोधक छमता काफ़ी कम हो गई हमारा इमन्यून सिस्टम काफ़ी वीक हो गया है जिसके कारण हमें फंगल इन्फेक्शन  हो जाता है और कई दवाइयाँ खाने के  बाद भी हमारा फंगल इन्फेक्शन ठीक नही होता है तो आज मै आप को एक जर्मन होम्योपैथिक बताऊंगा जिस से फंगल इन्फेक्शन जल्द ठीक हो जायेगा।


फंगल इन्फेक्शन आज कल बहुत ज्यादा फैल रहा है दोस्तों फंगल इन्फ़ेक्शन कई तरह के होते है और सबसे ज्यादा जो आम है बो है dermatofitosis मतलब रिंगबोर्म जिसे हिंदी में कहते है दाद बहुत ज्यादा होने लगा है 
दोस्तो रिंगबोर्म भी अलग तरह के होते है लेकिन जो आम है वो है टीनिया फंगल इन्फेक्शन और ये जल्दी से ठीक नही होता है और बार बार होता रहता है।


तो आज मै आप को जर्मन होम्योपैथिक मेडिसिन बताऊंगा जिसको आप यूज करेंगे 1 से 2 महीनों तक तो आप का फंगल इन्फेक्शन पूरी तरह से ठीक हो जाएगा।

r82 homeopathic medicine in hindi


इस मेडिसिन का नाम है R82 जर्मन होम्योपैथिक मेडिसिन है dr reckeweg कि R ग्रुप्स कि मेडिसिन है
सबसे पहले जानते है R82 में कौन- कौन सी होम्योपैथिक मेडिसिन डली हुई है क्या असर करती है हमारे शरीर पर और क्या प्रभाव पड़ता है


r82 homeopathic medicine in hindi



सबसे पहले इस  में चार मेडिसिन का कॉम्बिनेसन है जो इस प्रकार है

Aspergillus नाइजर D12, Candida Albicans D30, माइकोसिस Fungoides D12 और पेनिसिलियम D12 यह चारों दवाओं फंगल संक्रमण को ठीक करने में मदद करने में मदद करता है और दोबारा फंगल संक्रमण से बचने के होते हैं। यह चारों दवाइयाँ आप रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करते हैं इस के अलावा कुछ मुख्य दवाइयाँ है

क्लैमिडिया ट्रेकोमैटिस D30: - यह एक एंटी-फंगल दवाई है जोकि फंगस को ठीक करने में मदद करता है।

इचिनेसिया एंगस्टिफोलिया D12: - यह शरीर के इम्यून सिस्टम को बूस्ट करता है जोकि फंगल संक्रमण में ठीक करने में मददगार है।

जिंकम मेटालिकम D10: - यह दवाई भी फंगल संक्रमण है ठीक है और प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देता है।

अब बात करते है R82 को यूज कैसे करना है तो R82 मेडिसिन को लगा भी सकते है और पी भी सकते है

  सबसे पहले लगाने का तरीका बताते है इस के लिए जिस जगह आप के शरीर मे फंगल इन्फेक्शन है उस जगह R82 ड्राप कि 2 से 3 बूंद डालना है उस के बाद पूरी तरह से फंगल इन्फेक्शन पर रफ करना है जितने हिस्से में फंगल इन्फेक्शन हैजिसे   रात में एक बार लगाना है

 r82 homeopathic medicine in hindi


अब बात करते है इस को पीना कैसे है तो R82 को 10ml पानी मे 10 बूँद R82 डालना है दिन में दो बार पीना है सुबह और शाम को अगर आप का फंगल इन्फेक्शन काफ़ी पुराना है  तो आप को 3 महीनों तक पीना है।

तो ये थी जानकारी होम्योपैथिक मेडिसिन R82 के बारे कुछ जानकारी आशा करता हूं ये जानकारी आप को पसंद आई होगी।


यदि आप को ये जानकारी पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करें

2 टिप्‍पणियां:

Blogger द्वारा संचालित.